CTET Answer Key December 2019:CTET Answer Key December 2019: Get paper 1, paper 2 answer key for 8 Dec exam
Welcome To Study Govt. Exam

New Government Job , Result,Admit card, Syllabus की सूचना सबसे पहले प्राप्त करें

हमसे Youtube पर जुड़े और Latest Notification सबसे पहले पाए

CTET Answer Key December 2019:CTET Answer Key December 2019: Get paper 1, paper 2 answer key for 8 Dec exam

CTET Answer Key 2019:
CTET Answer Key December 2019: Get paper 1, paper 2 answer key for 8 Dec exam

CTET result Declared


सीटेट 8 दिसंबर का परिणाम जारी कर दिया गया हैआप नीचे दिए गए लिंक से अपना परिणाम निकाल सकते हैं

सीटेट 2019 की ऑफिशल आंसर की जारी कर दी गई है आपको बता दें कि दिसंबर में इसकी परीक्षा हुई थी 8 दिसंबर को हुई परीक्षा में अनौपचारिक answer की कई कोचिंग संस्थानों के द्वारा पहले ही जारी कर दी गई है आज इसकी ऑफिशल आंसर की सी टेट के द्वारा जारी की गई है




CTET Answer key December 2019 की answer key नीचे दी गई है वहां से आप डाउनलोड कर सकते हो


CBSE CTET December 2019: केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) की तरफ से आयोजित केंद्र शिक्षक पात्रता परीक्षा (सीटेट) का आयोजन होता है। जिसको लेकर सीबीएसई ने अपनी तैयारियों को अंतिम रूप दे दिया है और देशभर में 2935 परीक्षा केंद्र बनाए हैं। सीटेट को लेकर सीबीएसई से मिली जानकारी के अनुसार देशभर के 110 प्रमुख शहरों में परीक्षा का आयोजन किया जाएगा। जिसके लिए 28,32,119 अभ्यर्थियों ने पंजीकरण कराया है। परीक्षा को शांतिपूर्ण संपन्न कराने के लिए विशेष प्रबंधन किए गए हैं। जिसके तहत 4012 स्वंतत्र और 789 बोर्ड प्रतिनिधियों की नियुक्तियां परीक्षा केंद्रों में की गई हैँ। परीक्षा दो शिफ्ट में होगी। परीक्षा दो पालियों में ली जायेगी। प्रथम पाली सुबह 9.30 से 12 बजे तक और दूसरी पाली दो बजे से 4.30 बजे तक आयोजित होंगी। पेपर 1 उन लोगों के लिए होता है जो कक्षा 1 से 5 तक पढ़ाना चाहते हैं। वहीं, कक्षा 6 से 8 तक के लिए पेपर 2 होता है। यह परीक्षा 20 भाषाओं में आयोजित होगी। CBSE हर साल दो बार सीटीईटी परीक्षा आयोजित करता है। पहली परीक्षा जुलाई और दूसरी दिसंबर के महीने में आयोजित की जाती है।



CTET 2019 Answer Key- 8 December 2019

CBSE ने सफलतापूर्वक 8 दिसंबर 2019 को CTET दिसंबर सत्र परीक्षा आयोजित की है। जो उम्मीदवार CTET दिसंबर सत्र 2019 परीक्षा में उपस्थित हुए हैं, वे इस पृष्ठ से उत्तर कुंजी की जांच कर सकते हैं। आधिकारिक उत्तर कुंजी को नीचे दी गई है वहां से आप डाउनलोड कर सकते हैं
हमारे व्हाट्सएप ग्रुप में जुड़ने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें

            Click
CTET answer key 2019 and scanned images of the OMR sheet will be released by Central Board of Secondary Education (CBSE) tentatively in December end. The answer key will be released paper- and set-wise. Along with the key, the board will also open the facility for challenging the provisional answer key. Candidates can check the CTET answer key and challenge it (if required) on the official website of the exam by logging in to their accounts.

सीटेट 2019 का परीक्षा परिणाम जारी कर दिया गया है

CTET Result देखने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें


CTET 2019 की ऑफिशल आंसर की जारी कर दी गई है ऑफिशल आंसर की पीडीएफ में डाउनलोड करने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें

CTET 8 December Level 1st

CTET 8 December Level 2st







हमारी अनुभवी टीम लेवल फर्स्ट के पेपर की आंसर की तैयार करने में लगी हुई है हमने काफी प्रश्नों के उत्तर नीचे दिए हैं आप देख सकते हो बचे हुए प्रश्नों के उत्तर की कुंजी हम कुछ मिनटों बाद में यहां पर उपलब्ध करवा देंगे


CTET 8 December Level 1st-(सुबह 9:30 से 12:00)
Official answer key Download click here



CTET 8 December Level 1st-(सुबह 9:30 से 12:00)
Official Question Paper Download click here



CTET 8 December Level 1st-(दोपहर 2 से 4:30)
Official answer key Download

CTET 8 December Level 1st-(दोपहर 2 से 4:30)
Official Question Paper Download

PART = 1 
CHILD DEVELOPMENT AND PEDALOGY / बाल विकास एंव शिक्षाशास्त्र 
1. निम्नलिखित में से कौन सी प्रथाएँ सार्थक अधिगम को बढ़ावा देती हैं ?
(i) शारीरिक दंड
(ii) सहयोगात्मक अधिगम पर्यावरण
(ii) सतत् एवं समग्र मूल्यांकन
(iv) निरंतर तुलनात्मक मूल्यांकन
(1) (ii), (iii), (iv)
(2) (i), (ii).
(3) (ii), (iii)
(4) (i), (ii), (iii)

Answer =  3   

2. शिक्षक बच्चों की जटिल अवधारणाओं की समझ को किस प्रकार सहज कर सकते हैं ?
(1) अन्वेषण एवं परिचर्चा के लिए अवसर उपलब्ध करके।
(2) एक व्याख्यान देकर के।
(3) प्रतियोगितात्मक अवसरों की व्यवस्था करके।
(4) बार-बार यांत्रिक अभ्यास के द्वारा।

Answer =  1   

3. एक प्राथमिक विद्यालय की अध्यापिका बच्चों को एक प्रभावशाली समस्या-समाधानकर्ता बनने के लिए किस प्रकार से प्रोत्साहित कर सकती है ?
(1) बच्चों को सहजानुभूत अनुमान लगाने के ” लिए प्रोत्साहित करके तथा उसी पर आधारित विचार मंथन करके।
(2) प्रत्येक छोटे कार्य के लिए भौतिक पुरस्कार देकर। –
(3) केवल प्रक्रियात्मक ज्ञान पर बल/महत्त्व देकर।
(4) ‘गलत उत्तरों’ को अस्वीकार करके एवं दंडित करके।

Answer =    1 

4. निम्नलिखित में से कौन सा द्वितीयक सामाजीकरण एजेन्सी का उदाहरण है ?
(1) मीडिया एवं पास-पड़ोस
(2) परिवार एवं पास-पड़ोस
(3) परिवार एवं मीडिया
(4) विद्यालय एवं मीडिया

Answer =    4 

5. निम्नलिखित अवधि में से किसमें शारीरिक वृद्धि एवं विकास तीव्र गति से घटित होता है ?
(1) किशोरावस्था एवं वयस्कता
(2) शैशवावस्था एवं प्रारंभिक बाल्यावस्था
(3) प्रारंभिक बाल्यावस्था एवं मध्य बाल्यावस्था
(4) मध्य बाल्यावस्था एवं किशोरावस्था

Answer =   2  

6. निम्नलिखित में से कौन सा विकास का सिद्धांत नहीं है ?
(1) विकास सार्वभौमिक है तथा सांस्कृतिक संदर्भ इसे प्रभावित नहीं करते।
(2) विकास जीवनपर्यन्त होता है।
(3) विकास परिवर्त्य होता है ।
(4) विकास आनुवंशिकता एवं पर्यावरण दोनों के द्वारा प्रभावित होता है ।

Answer =   1  

7. वैयक्तिक विभिन्नताओं का प्राथमिक कारण क्या है ?
(1) आनुवंशिकता एवं पर्यावरण के बीच जटिल पारस्परिक क्रिया।
(2) लोगों के द्वारा माता-पिता से प्राप्त आनुवंशिक संकेत पद्धति (कोड)
(3) जन्मजात विशेषताएँ
(4) पर्यावरणीय प्रभाव

Answer =   1  
8. बच्चों में जेंडर रूढ़िवादिता एवं जेंडर-भूमिका अनुरूपता को कम करने के लिए निम्नलिखित में से कौन सी पद्धति प्रभावशाली है ?
(1) जेंडर-पृथक बैठने की व्यवस्था करना ।
(2) जेंडर-पक्षपात के बारे में परिचर्चा |
(3) जेंडर-विशिष्ट भूमिकाओं को महत्त्व देना ।
(4) जेंडर-पृथक खेल समूह बनाना ।

Answer =   2  

9. निम्नलिखित में से किस मनोवैज्ञानिक ने बच्चों को ज्ञान के सक्रिय जिज्ञासु के रूप में देखते हुए उनके चिंतन पर सामाजिक एवं सांस्कृतिक विषय वस्तुओं के प्रभाव को महत्त्व दिया ?
(1) लॉरेंस कोलबर्ग . .
(2) जॉन बी. वाट्सन
(3) लेव वायगोट्स्की
(4) जीन पियाजे

Answer =   3  

10. भाषा के अर्जन एवं विकास के लिए सर्वाधिक संवेदनशील अवधि कौन सी है ?
(1) किशोरावस्था
(2) जन्म पूर्व अवधि ।
(3) प्रारंभिक बाल्यावस्था
(4) मध्य बाल्यावस्था

Answer =    3 

11. निम्नलिखित में से कौन सी लॉरेंस कोलबर्ग के द्वारा प्रस्तावित नैतिक विकास की एक अवस्था है?
(1) उद्योग बनाम अधीनता अवस्था
(2) प्रसुप्ति अवस्था
(3) सामाजिक अनुबंध अभिविन्यास
(4) मूर्त संक्रियात्मक अवस्था


Answer =  3   

12. कक्षा में परिचर्चा के दौरान एक शिक्षक प्रायः लड़कियों की तुलना में लड़कों पर अधिक ध्यान देता है । यह किसका उदाहरण है ?
(1) जेंडर समरूपता |
(2) जेंडर पक्षपात
(3) जेंडर पहचान
(4) जेंडर संबद्धता

Answer =   2  
13. बच्चों के संज्ञानात्मक विकास के संदर्भ में निम्नलिखित में से कौन सी पियाजे की संरचना है?
(1) प्रबलन
(2) स्कीमा
(3) अवलोकन अधिगम
(4) अनुबंधन

Answer =   2  

14. जिग-सॉ पहेली को करते समय 5 वर्ष की नज्मा स्वयं से कहती है, “नीला टुकड़ा कहाँ है ? नहीं, यह वाला नहीं, गाढ़े रंग वाला जिससे यह जूता पूरा बन जाएगा। इस प्रकार की वार्ता को वायगोट्स्की किस तरह संबोधित करते हैं ?
(1) आत्मकेन्द्रित वार्ता
(2) व्यक्तिगत वार्ता
(3) जोर से बोलना
(4) पाड़ (ढाँचा)

Answer =   2  

15. बच्चों को संकेत देना तथा आवश्यकता पड़ने पर सहयोग प्रदान करना, निम्नलिखित में से किसका उदाहरण है ?
(1) पाड़ (ढाँचा)
(2) प्रबलन
(3) अनुबंधन
(4) मॉडलिंग

Answer =    1 

16. निम्नलिखित व्यवहारों में से कौन सा जीन पियाजे के द्वारा प्रस्तावित ‘मूर्त संक्रियात्मक अवस्था’ को विशेषित करता है?
(1) प्रतीकात्मक खेल; विचारों की अनुत्क्रमणीयता
(2) परिकल्पित-निगमनात्मक तर्क; साध्यात्मक विचार
(3) संरक्षण; कक्षा समावेशन
(4) आस्थगित अनुकरण; पदार्थ स्थायित्व

Answer =   3  
17. आकलन का प्राथमिक उद्देश्य क्या होना चाहिए?
(1) रिपोर्ट कार्ड में उत्तीर्ण या अनुत्तीर्ण अंकित करना।
(2) विद्यार्थियों के लिए श्रेणी निश्चित करना ।
(3) संबंधित अवधारणाओं के बारे में बच्चों की स्पष्टता तथा भ्रांतियों को समझना।
(4) विद्यार्थियों के प्राप्तांकों के आधार पर उनको नामांकित करना।
Answer =  3   

18. निम्नलिखित कथनों में से कौन सा बुद्धि के बारे में सही है ?
(1) बुद्धि बहु-आयामी है तथा जटिल योग्यताओं का एक समूह है।
(2) बुद्धि एक निश्चित योग्यता है जो जन्म के समय ही निर्धारित होती है।
(3) बुद्धि को मानकीकृत परीक्षणों के प्रयोग से सटीक रूप से मापा एवं निर्धारित किया जा सकता है।
(4) बुद्धि एक एकात्मक कारक तथा एक एकाकी विशेषक है।

Answer =   1  

19. रूही हमेशा समस्या के एकाधिक समाधानों के बारे में सोचती है । इनमें से काफी समाधान मौलिक होते हैं । रूही किन गुणों का प्रदर्शन कर रही है ?
(1) आत्म-केन्द्रित विचारक
(2) सृजनात्मक विचारक
(3) अभिसारिक विचारक
(4) अनम्य विचारक भनय विचारक

Answer =    2 
20. शिक्षा का अधिकार अधिनियम, 2009 में उल्लेख की गई ‘समावेशी शिक्षा’ की अवधारणा निम्नलिखित में किस पर आधारित है ?
(1) मुख्यत: व्यावसायिक शिक्षा उपलब्ध करा करके अशक्त बच्चों को मुख्यधारा में शामिल करना
(2) व्यवहारवादी सिद्धांत
(3) अशक्त बच्चों के प्रति एक सहानुभूतिक
(4) अभिवृत्ति अधिकार-आधारित मानवतावादी परिप्रेक्ष्य

Answer =    4 

21. शिक्षण-अधिगम प्रक्रिया में, वंचित समूह से संबंधित विद्यार्थियों के द्वारा सहभागिता कम होने की स्थिति में एक शिक्षक को क्या करना चाहिए?
(1) अपनी शिक्षण पद्धति पर विचार करना चाहिए तथा बच्चों की सहभागिता में सुधार करने के लिए नए तरीके ढूँढने चाहिए।
(2) बच्चों को विद्यालय छोड़ने के लिए कहना चाहिए।
(3) इस स्थिति को जैसी है, स्वीकार कर लेना चाहिए।
(4) इन विद्यार्थियों से अपनी अपेक्षाओं को कम करना चाहिए।

Answer =  1   

22. एक समावेशी कक्षा में, एक शिक्षक को विशिष्ट शैक्षिक योजनाओं को —
(1) तैयार करने के लिए हतोत्साहित होना चाहिए।
(2) तैयार नहीं करना चाहिए ।
(3) कभी-कभी तैयार करना चाहिए।
(4) सक्रिय रूप से तैयार करना चाहिए।

Answer =    4 

23. ‘पठनवैफल्य’ बच्चों के प्राथमिक लक्षण क्या
(1) एक ही गतिविषयक कार्य को बार-बार दोहराना
(2) न्यून-अवधान विकार
(3) अपसारी चिंतन ; पढ़ने में धाराप्रवाहिता
(4) धाराप्रवाह पढ़ने की अक्षमता

Answer =  4   

24. संवेग एवं संज्ञान एक दूसरे से ___ हैं।
(1) संबंधित नहीं
(2) पूर्णतया अलग
(3) स्वतंत्र
(4) सन्निहित

Answer =    3 

25. संरचनावादी ढाँचे में, अधिगम प्राथमिक रूप से
(1) अवबोधन की प्रक्रिया पर केंद्रित है।
(2) यंत्रवत् याद करने पर आधारित है।
(3) प्रबलन पर केंद्रित है।
(4) अनुबंधन द्वारा अर्जित है।

Answer =   1  

26. ‘अनेक घटनाओं के बारे में बच्चों के द्वारा बनाए गए ‘सहजानुभूत सिद्धांतों’ के संदर्भ में एक शिक्षिका को क्या करना चाहिए ?
(1) प्रतिकूल प्रमाण एवं उदाहरणों को प्रस्तुत करके बच्चों के इन सिद्धान्तों को चुनौती देनी चाहिए।
(2) बच्चों के इन सिद्धान्तों को अनदेखा करना चाहिए।
(3) बच्चों को दंडित करना चाहिए ।
(4) बार-बार याद करने के द्वारा एक सही सिद्धांत से ‘बदल’ देना चाहिए।

Answer =    1 

27. छात्र केंद्रित शिक्षाशास्त्र की क्या विशेषता है ?
(1) योग्यता के आधार पर विद्यार्थियों को नामांकित करना तथा वर्गीकरण करना
(2) केवल पाठ्यपुस्तकों पर निर्भर होना
(3) बच्चों के अनुभवों को प्रमुखता देना
(4) यंत्रवत् याद करना ,

Answer =  3   
28. संरचनावादी सिद्धान्तों के अनुसार अधिगम के बारे में निम्नलिखित कथनों में से कौन सा सही है ?
(1) अधिगम सक्रिय विनियोजन के द्वारा ज्ञान की संरचना की प्रक्रिया है।
(2) अधिगम पुनरुत्पादन एवं स्मरण की प्रक्रिया है।
(3) अधिगम यंत्रवत् याद करने की प्रक्रिया है।
(4) अधिगम आवृत्तीय संबंध के द्वारा व्यवहारों का अनुबंधन है।
Answer =    1 

29. विद्यार्थियों को स्पष्ट उदाहरण एवं गैर-उदाहरण देने के क्या परिणाम है?
(1) यह अवधारणात्मक समझ के बजाय कार्यविधिक/प्रक्रियात्मक ज्ञान पर ध्यान केंद्रित करता है।
(2) अवधारणात्मक परिवर्तनों को प्रोत्साहित करने के लिए यह एक प्रभावशाली तरीका है।
(3) यह विद्यार्थियों के दिमाग मे भ्रांतियाँ उत्पन्न करता है।
(4) यह अवधारणाओं की समझ में अभाव पैदा करता है।
Answer =  2   

30. बच्चों को अधिगम गतिविधियों में भागीदारी करने के लिए लगातार पुरस्कार देना व दंड का प्रयोग करने से क्या प्रभाव पड़ता है ?
(1) अधिगम में बच्चों की स्वाभाविक अभिरुचि तथा जिज्ञासा कम होती है।
(2) बाहरी अभिप्रेरणा कम होती है ।
(3) आंतरिक अभिप्रेरणा बढ़ती है।
(4) यह बच्चों को प्रदर्शन आधारित लक्ष्यों के बजाय निपुणता पर ध्यान देने के लिए प्रोत्साहित करेगा।

Answer =    1 



Important CTET Answer Key & Related Dates

Candidates can check important dates related to CTET 2019 answer key below:

CTET Exam Events
CTET Exam Dates 2019
December 8, 2019
Unofficial answer key
Second week of December, 2019 (tentative)
Official provisional answer key
Last week of December, 2019 (tentative)
Official final answer key
Second week of January, 2020 (tentative)
Result
Third/last week of January, 2020 (tentative)


How to Check CTET Answer Key & OMR Sheet?

Candidates can check CTET 2019 answer key and OMR sheet by following the steps mentioned below:
  • Visit the official website of CTET (ctet.nic.in)
  • Click on the link available for CTET answer key
  • Enter roll number and date of birth (date/month/year format)
  • Click on Login
  • Download and save the answer key and OMR sheet
It may be noted that candidates can also get a photocopy of the CTET OMR sheet along with the calculation sheet by paying Rs 500 per OMR. Candidates can pay Rs 500 as fee through Demand Draft (DD) in favour of Secretary, Central Board of Secondary Education drawn on any Nationalised Bank and payable at Delhi.  

Details Present on CTET Answer Key

CTET 2019 answer key will contain correct answers for all the questions asked in the exam. Details that will be present on the answer key include:
  • Exam name
  • Exam date
  • Paper name
  • Set name
  • Question numbers
  • Correct answer option for all questions

How to Calculate CTET Exam Score?

CTET answer key is a very important document that helps candidates predict the score that they can secure in the exam. However, to have the correct estimation of the CTET score that candidates can secure, it is important that they are well-versed with the marking scheme of the exam. CTET marking scheme is such that one mark is allotted for every correct answer and no mark is deducted for an incorrect answer in the exam.
Type of Questions in CTET
Correct Answer in CTET
Incorrect Answer in CTET
Multiple-Choice Questions (MCQs)
+1
0
Candidates should go through the answer key and OMR sheet carefully and allot themselves +1 for correct answer and 0 for incorrect answer/question left unanswered.

How to Challenge CTET Answer Key?

While going through the answer key, it is possible that candidates are not satisfied with the given answer(s) of any question(s). In such a case, candidates can challenge the answer key by paying a fee of Rs 1,000 per question in online mode.
Steps to challenge the CTET 2019 answer key are mentioned below:
  • Visit the official website of the exam
  • Click on the link available for CTET answer key challenge
  • Enter roll number and date of birth (date/month/year format)
  • Click on Login
  • Click on the link available for submitting challenges
  • A page with instructions on how to challenge the answer key will open on the screen. Read all the instructions carefully
  • Select the question to be challenged from the dropdown menu
  • Click on ‘Select for Challenge’ button
  • Click on the ‘Click to Enter Your Answer’ link
  • Select the correct answer option against the selected question
  • Click on the ‘Update’ link
  • Click on the ‘Finalise Challenges Submission’ button
  • Make the payment of Rs 1,000 in online mode via credit card/debit card/internet banking

CTET Final Answer Key & Result

Once CBSE receives all objections (if any) against the answer key, it will evaluate them and release the final answer key. Steps to check the final answer key for CTET 2019 exam are given below:
  • Log on to the official website of CTET
  • Click on the final answer key link
  • Enter roll number and date of birth
  • Click on Login
  • Download the final answer key
Based on the final answer key for the exam, CTET result will be declared by CBSE on the official website.
Check CTET final answer keys for July 2019 exam below:
CTET July 2019 Final Answer Key for Paper-ICTET July 2019 Final Answer Key for Paper-II

CTET Answer Key FAQs

Q: When will CTET answer key be released?
A: The date for release of CTET answer key has not been announced yet. However, the provisional answer key for the exam is expected to be out by December end.
Q: Will the CTET answer key be released for both the papers?
A: CBSE will release the CTET 2019 answer key for both paper-I and II set-wise.
Q: What information will be given on CTET answer key?
A: The CTET answer key will contain details such as exam name, exam date, paper name, set name, question numbers and correct answer options.
Q: How can I check the CTET answer key?
A: You can check the CTET answer key online on the official website of the exam (ctet.nic.in) by using your roll number and date of birth.
Q: Does CBSE provide the facility for challenging the answer key?
A: Yes, CBSE opens the window for challenging the key along with the release of CTET provisional answer key.
Q: Where can I raise objection against the CTET answer key?
A: You can raise objection against the provisional answer key on the official website of the exam by logging into your registered account.
Q: Can I email the answer key objection to CTET authorities?
A: No, objection against the answer key has to be raised on the official website only. Objection raised in any other mode or format such as email, post, etc. will be rejected.
Q: Is there a fee for raising objections against the answer key?
A: Yes. To raise objection against one question, you have to pay Rs 1,000 as fee in online mode.
Q: Will the final CTET answer key be released?
A: Yes, the CTET final answer key will be released after the window for challenging the provisional key is closed by CBSE.
Q: Is there any provision for re-evaluation of the OMR sheet?
A: No, CBSE does not offer the provision for re-checking/re-evaluation of OMR sheets.
Q: Why is CTET answer key important?
A: CTET answer key is important as candidates can predict the score that they can secure in the exam before the release of results.
Q: Will the result be released on the basis of provisional answer key?
A: No, CTET 2019 result will be released on the basis of the final answer key.










Post a Comment

0 Comments