Rajasthan में आया ताऊते तूफान, इन जिलों में मचा सकता है तबाही Rajasthan में आया ताऊते तूफान, इन जिलों में मचा सकता है तबाही - Study Govt Exam

Govt. Jobs की अपडेट सबसे पहले.

Tuesday, May 18, 2021

Rajasthan में आया ताऊते तूफान, इन जिलों में मचा सकता है तबाही

Rajasthan में आया ताऊते तूफान, इन जिलों में मचा सकता है तबाही

Jaipur : अरब सागर की खाड़ी में उठा तूफान ताऊते (Tauktae) लगातार भयानक रूप धारण करता जा रहा है और अभी एक खतरनाक तूफान के रूप में तब्दील हो चुका है. जो धीरे-धीरे गुजरात की ओर बढ़ रहा है. गुजरात के तट पर जहां 17 मई की शाम को यह तूफान टकराने वाला है. तो वहीं 18 मई की शाम को राजस्थान (Weather Forecast) में भी इस तूफान का प्रवेश होगा. तूफान को लेकर राजस्थान मौसम विभाग ने 5 संभागों में भारी से भारी बारिश की चेतावनी जारी की है.
भारी बारिश के साथ ही करीब 50 से 60 किलोमीटर की रफ्तार से तेज हवाएं चलने के साथ ही थंडरस्ट्रोम की चेतावनी भी मौसम विभाग की ओर से जारी की गई है. इस दौरान सबसे ज्यादा उदयपुर में इस तूफान का असर देखने को मिल सकता है. इस दौरान उदयपुर संभाग और आसपास के हिस्सों में करीब 200 एमएम से ज्यादा बारिश होने की संभावना है. मौसम केन्द्र जयपुर निदेशक RS शर्मा का कहना है कि " अरब सागर की खाड़ी में उठा तूफान आज शाम को गुजरात तट पर टकराएगा. इसके बाद नॉर्थ डायरेक्शन में आगे बढ़ते हुए के मंगलवार रात तक इस तूफान का प्रवेश राजस्थान में होगा. 
इस दौरान (Weather News) इस सिस्टम का सर्वाधिक असर 18 और 19 मई को राजस्थान में देखने को मिलेगा. विशेष रूप से 18 मई को साउथ राजस्थान के उदयपुर और जोधपुर संभाग के कुछ जिलों में भारी से भारी बारिश होने की संभावना है. उदयपुर संभाग और आसपास के हिस्सों में भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है. यहां करीब 200mm से ज्यादा बारिश दर्ज होने की संभावना है. इसके साथ ही करीब 50 से 60 किलोमीटर की रफ्तार से हवाएं चल सकती हैं. 
राजस्थान में चक्रवाती तूफान ‘ताउते’ (Cyclone Toute ) का असर शुरू हो गया है. प्रदेश में देर रात से ही ठंडी हवाओं के साथ बारिश का दौर (Change In Weather) चल रहा है. राजधानी जयपुर में भी कभी हल्की तो कभी तेज बूंदाबांदी हो रही है. इसके अलावा दौसा, जोधपुर, पाली, बाड़मेर, अजमेर, नागौर और करौली सहित प्रदेश के कई जिलों में बारिश हो रही है. बदले मौसम से लोगों की दिनचर्या भी प्रभावित हो रही है. वहीं तापमान में आई गिरावट से गर्मी का अहसास नदारद हुआ है. 
‘ताउते’ चक्रवात के असर को लेकर प्रदेश में प्रशासन सम्भावित तूफ़ान के ख़तरे को लेकर पूरी तरह से अलर्ट (Weather Alert) है. ग्रामीण क्षेत्रों में हवाओं की रफ़्तार बढ़ रही है. इसी के चलते शहर के अलावा ग्रामीण क्षेत्रों में बिजली गुल होने के मामले सामने आ रहे हैं. मौसम विभाग ने ‘ताउते’ के असर को देखते हुए प्रदेश के अलग-अलग हिस्सों में रेड, आरेंज और येलो अलर्ट जारी किया है. 

प्रदेश में 18-19 मई को तूफान का सर्वाधिक असर रहेगा

मौसम विभाग (Weather Forecast) से मिली जानकारी के अनुसार राजस्थान में दक्षिणी-पश्चिमी जिलों के रास्ते से प्रवेश करने के बाद यह तूफान उत्तरी-पूर्वी इलाकों से होता हुआ गुजरेगा. इस दौरान 30 जिलों को प्रभावित करेगा और 12 जिलों में अत्यंत भारी बारिश होने का अनुमान है. इस दौरान 70 किमी प्रतिघंटा की रफ्तार से हवाएं चलने की संभावना है. प्रदेश में 18-19 मई को तूफान का सर्वाधिक असर रहेगा. 20 मई को यह तूफान उत्तरी पूर्वी इलाकों की ओर आगे बढ़ते हुए कमजोर पड़ जाएगा. 

सेना को भी अलर्ट पर रहने को कहा गया

अरब सागर में उठा तूफान धीरे-धीरे गति पकड़ता हुआ आगे बढ़ रहा है। उदयपुर में भारी बारिश के बाद अब जोधपुर संभाग में भी जिला प्रशासन अलर्ट मोड पर है। संभाग के पाली, जालोर, जोधपुर, जैसलमेर, बाड़मेर जिलों के कलेक्टर और एसपी को आवश्यक निर्देश दिए गए हैं। इसके अलावा उन्होंने सेना को भी अलर्ट पर रहने को कहा गया है।
इस दौरान इस सिस्टम का सबसे ज्यादा असर दक्षिण राजस्थान के इलाकों पर पड़ने वाला है। मौसम विभाग की ओर से जारी अलर्ट में इसे यूं समझ सकते हैं। मुख्य रूप से जोधपुर और उदयपुर संभाग के जिलों में भारी और अत्यधिक भारी वर्षा की संभावना है। उदयपुर और इसके आसपास के एक-दो स्थानों पर 200 एमएम से भी अधिक बारिश हो सकती है। बारिश के साथ ही दोनों संभागों में तेज तूफानी हवायें संभावित हैं जिनकी रफ्तार 50 से 60 किमी प्रति घंटा रह सकती है।
19 मई को सिस्टम का असर पूर्वी राजस्थान के जयपुर, अजमेर, भरतपुर संभाग में देखने को मिलेगा. इस दौरान यहां पर भारी बारिश की चेतावनी है. बीकानेर संभाग में 18 और 19 मई को दोपहर के बाद तेज हवाओं के साथ हल्की से मध्यम दर्जे की बारिश होने की संभावना है. इस सिस्टम का सर्वाधिक असर 18 और 19 मई को रहने के बाद 20 मई को यह सिस्टम आगे बढ़ेगा और धीरे-धीरे कमजोर होगा."




No comments:

Post a Comment