Type Here to Get Search Results !

RPSC RAS Syllabus 2021 Detailed Syllabus, Exam Pattern Prelims And Mains Hindi & English

RPSC RAS Syllabus 2021 Detailed Syllabus, Exam Pattern Prelims And Mains Hindi & English

RPSC RAS Syllabus 2021 Detailed Syllabus, Exam Pattern Prelims And Mains Hindi & English: आर पी एस सी आर एस भर्ती 2021 के लिए संपूर्ण सिलबस क्या रहेगा एग्जाम पैटर्न क्या रहेगा प्रथम पेपर में कौन से प्रश्न आएंगे वह द्वितीय पेपर में किस से संबंधित प्रश्न आएंगे इसके रिकॉर्डिंग हम आपको हम आपको संपूर्ण जानकारी देंगे किसी भी अभ्यर्थी को भर्ती परीक्षा में बैठने के लिए संपूर्ण सिलेबस के बारे में पता होना आवश्यक है आर पी एस सी आर एस भर्ती 2021 में चयन दो परीक्षा और इंटरव्यू के आधार पर किया जाता है जिसमें सबसे पहले प्रारंभिक परीक्षा और दूसरी मुख्य परीक्षा होती है अब लड़की को राजस्थान आरस भर्ती 2021 की तैयारी अच्छे सिलेबस के अनुसार करनी चाहिए आर पी एस सी आर एस भर्ती 2021 का सिलेबस नया सिलेबस भी जल्द अपलोड कर दिया जाएगा यहां पर हमने आपको पिछले साल का सिलेबस उपलब्ध करा दिया है

RPSC RAS Syllabus 2021

राजस्थान आर यस भर्ती 2021 के ऑनलाइन आवेदन 28 जुलाई से 27 अगस्त 2021 तक भरे जाएंग
 फॉर्म भरने से पहले ही अभ्यर्थी इसके एग्जाम पैटर्न और सिलेबस के बारे में जानना चाहते हैं हम यहां आपको राजस्थान आर एस भर्ती 2021 का एग्जाम पैटर्न उपलब्ध करा रहे हैं जिसे डाउनलोड करके आप तैयारी शुरू कर सकते हैं

RPSC RAS Exam Pattern 2021

Stage 1. RAS Preliminary Examination
आर पी एस सी आर एस भर्ती 2021 के लिए सबसे पहले प्रारंभिक परीक्षा आयोजित करवाई जाएगी इसके अंतर्गत सामान्य ज्ञान और सामान्य विज्ञान के 150 प्रश्न पूछे जाएंगे सभी प्रश्न वस्तुनिष्ठ बहू के लिए प्रकार के होंगे यह पेपर 200 अंकों का आयोजित करवाया जाएगा जिसमें 3 घंटे का समय का दिया जाएगा परीक्षा में प्रत्येक गलत उत्तर के लिए 1 बटा 3 भाग नेगेटिव मार्किंग की जाएगी इसमें व्यक्ति को सिर्फ क्वालिफाइड करना है
The question paper is of objective type and carries a maximum of 
Examination is a screening test, only for admission to mains examination and marks obtained will not be counted in final merit. Hence, candidates need to just clear the exam. of question for each wrong answer.

Stage 2. RAS Mains Examination
 changed the pattern of RAS mains examination to follow UPSC’s pattern of mains examination. And RAS mains examination also has 4 papers as follows:
Each paper is 200 marks and 3 hours duration.
Each paper is descriptive/analytical.
Stage 3. RAS Interview
Candidates who clear mains examination are summoned by RPSC for an interview for a personality test which carries 
The RAS Exam Interview board awards marks in respect of character, personality, address, physique and marks are also awarded for the candidate’s knowledge of Rajasthani culture.
The marks so awarded are added to the marks obtained in the written test by each such candidate.
The final merit list is prepared on total marks obtained in Mains as well as Interview round.

RPSC RAS Syllabus 2021

प्रीलिम्स पेपर में केवल सामान्य ज्ञान और सामान्य विज्ञान शामिल हैं। मोटे तौर पर, RPSC RAS ​​2021 के प्रीलिम्स सिलेबस में निम्नलिखित विषय शामिल हैं।
राजस्थान का इतिहास, कला, संस्कृति, साहित्य, परम्परा एवं विरासत :
  1. राजस्थान के इतिहास की महत्त्वपूर्ण ऐतिहासिक घटनाएं, प्रमुख राजवंश, उनकी प्रशासनिक व राजस्व व्यवस्था। सामाजिक-सांस्कृतिक मुद्दे.
  2. स्वतंत्रता आन्दोलन, जनजागरण व राजनीतिक एकीकरण
  3. स्थापत्य कला की प्रमुख विशेषताएँ- किले एवं स्मारक
  4. कलाएँ, चित्रकलाएँ और हस्तशिल्प
  5. राजस्थानी साहित्य की महत्त्वपूर्ण कृतियाँ, क्षेत्रीय बोलियाँ
  6. मेले, त्यौहार, लोक संगीत एवं लोक नृत्य
  7. राजस्थानी संस्कृति, परम्परा एवं विरासत
  8. राजस्थान के धार्मिक आन्दोलन, संत एवं लोक देवता
  9. महत्त्वपूर्ण पर्यटन स्थल.
  10. राजस्थान के प्रमुख व्यक्तित्व.

भारत का इतिहास :
  1. प्राचीनकाल एवं मध्यकाल
  2. प्राचीन एवं मध्यकालीन भारत के इतिहास की प्रमुख विशेषताएँ एवं महत्वपूर्ण ऐतिहासिक घटनाएं
  3. कला, संस्कृति, साहित्य एवं स्थापत्य
  4. प्रमुख राजवंश, उनकी प्रशासनिक सामाजिक व आर्थिक व्यवस्था। सामाजिक-सांस्कृतिक मुद्दे, प्रमुख
  5. आन्दोलन
आधुनिक काल :
  1. आधुनिक भारत का इतिहास (18वीं शताब्दी के मध्य से वर्तमान तक)– प्रमुख घटनाएँ, व्यक्तित्व एवं मुद्दे
  2. स्वतंत्रता संघर्ष एवं भारतीय राष्ट्रीय आन्दोलन– विभिन्न अवस्थाएँ, इनमें देश के विभिन्न क्षेत्रों के योगदानकर्ता एवं उनका योगदान
  3. 19वीं एवं 20वीं शताब्दी में सामाजिक एवं धार्मिक सुधार आन्दोलन . स्वातंत्र्योत्तर काल में राष्ट्रीय एकीकरण एवं पुनर्गठन
विश्व एवं भारत का भूगोल :
  1. विश्व का भूगोल
  2. प्रमुख भौतिक विशेषताएँ
  3. पर्यावरणीय एवं पारिस्थितिकीय मुद्दे
  4. वन्य जीव-जन्तु एवं जैव-विविधता
  5. अन्तर्राष्ट्रीय जलमार्ग
  6. प्रमुख औद्योगिक क्षेत्र
  7. भारत का भूगोल
  8. प्रमुख भौतिक विशेषताएं और मुख्य भू–भौतिक विभाजन
  9. कृषि एवं कृषि आधारित गतिविधियाँ
  10. खनिज-लोहा, मैंगनीज, कोयला, खनिज तेल और गैस, आणविक खनिज
  11. प्रमुख उद्योग एवं औद्योगिक विकास
  12. परिवहन – मुख्य परिवहन मार्ग
  13. प्राकृतिक संसाधन
  14. पर्यावरणीय समस्याएँ तथा पारिस्थितिकीय मुददे
राजस्थान का भूगोल :
  1. प्रमुख भौतिक विशेषताएं और मुख्य भू–भौतिक विभाग
  2. राजस्थान के प्राकृतिक संसाधन
  3. जलवायु, प्राकृतिक वनस्पति, वन, वन्य जीव-जन्तु एवं जैव-विविधता
  4. प्रमुख सिंचाई परियोजनाएँ खान एवं खनिज सम्पदाएँ
  5. जनसंख्या
  6. प्रमुख उद्योग एवं औद्योगिक विकास की सम्भावनाएँ
भारतीय संविधान, राजनीतिक व्यवस्था एवं शासन प्रणाली
  1. संवैधानिक विकास एवं भारतीय संविधान
  2. भारतीय शासन अधिनियम- 1919 एवं 1935, संविधान सभा, भारतीय संविधान की प्रकृति, प्रस्तावना (उद्देश्यिका), मौलिक अधिकार, राज्य के नीति निर्देशक सिद्धांत, मौलिक कर्तव्य, संघीय ढांचा, संवैधानिक संशोधन, आपातकालीन प्रावधान, जनहित याचिका और न्यायिक पुनरावलोकन।
  3. भारतीय राजनीतिक व्यवस्था एवं शासन
  4. भारत राज्य की प्रकृति, भारत में लोकतंत्र, राज्यों का पुनर्गठन, गठबंधन सरकारें, राजनीतिक दल, 
राष्ट्रीय एकीकरण
  1. संघीय एवं राज्य कार्यपालिका, संघीय एवं राज्य विधान मण्डल, न्यायपालिका
  2. राष्ट्रपति, संसद, सर्वोच्च न्यायालय, निर्वाचन आयोग, नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक, योजना आयोग, राष्ट्रीय विकास परिषद, मुख्य सर्तकता आयुक्त, मुख्य सूचना आयुक्त, लोकपाल एवं राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग
  3. स्थानीय स्वायत्त शासन एवं पंचायती राज
लोक नीति एवं अधिकार
  1. लोक कल्याणकारी राज्य के रूप में राष्ट्रीय लोकनीति
  2. विभिन्न विधिक अधिकार एवं नागरिक अधिकार-पत्र
राजस्थान की राजनीतिक एवं प्रशासनिक व्यवस्था

  1. राज्यपाल, मुख्यमंत्री, राज्य विधानसभा, उच्च न्यायालय, राजस्थान लोक सेवा आयोग, जिला प्रशासन, राज्य मानवाधिकार आयोग, लोकायुक्त, राज्य निर्वाचन आयोग, राज्य सूचना आयोग लोक नीति, विधिक अधिकार एवं नागरिक अधिकार-पत्र
अर्थशास्त्रीय अवधारणाएँ एवं भारतीय अर्थव्यवस्था

  1. अर्थशास्त्र के मूलभूत सिद्धान्त
  2. बजट निर्माण, बैंकिंग, लोक-वित्त, राष्ट्रीय आय, संवृद्धि एवं विकास का आधारभूत ज्ञान
  3. लेखांकन- अवधारणा, उपकरण एवं प्रशासन में उपयोग
  4. स्टॉक एक्सचेंज एवं शेयर बाजार
  5. राजकोषीय एवं मौद्रिक नीतियाँ
  6. सब्सिडी, लोक वितरण प्रणाली
  7. ई-कॉमर्स
  8. मुद्रास्फीति- अवधारणा, प्रभाव एवं नियंत्रण तंत्र
  9. आर्थिक विकास एवं आयोजन
  10. पंचवर्षीय योजना -लक्ष्य, रणनीति एवं उपलब्धियाँ
  11. अर्थव्यवस्था के प्रमुख क्षेत्र :- कृषि, उद्योग, सेवा एवं व्यापार, वर्तमान स्थिति, मुद्दे एवं पहल |• प्रमुख आर्थिक समस्याएं एवं सरकार की पहल, आर्थिक सुधार एवं उदारीकरण
  12. मानव संसाधन एवं आर्थिक विकास :
  13. मानव विकास सूचकांक
  14. गरीबी एवं बेरोजगारी-अवधारणा, प्रकार, कारण, निदानएवं वर्तमान फ्लेगशिप योजनाएं
  15. सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता-कमजोर वर्गों के लिए प्रावधान
राजस्थान की अर्थव्यवस्था
  1. अर्थव्यवस्था का वृहत् परिदृश्य
  2. कृषि, उद्योग व सेवा क्षेत्र के प्रमुख मुद्दे
  3. संवृद्धि, विकास एवं आयोजना
  4. आधारभूत संरचना एवं संसाधन
  5. प्रमुख विकास परियोजनायें
  6. कार्यक्रम एवं योजनाएँ-अनुसूचित जाति., अनुसूचित जनजाति, पिछडा वर्ग, अल्पसंख्यकों, निःशक्तजनों, निराश्रितों, महिलाओं, बच्चों, वृद्धजनों, कृषकों एवं श्रमिकों के लिए राजकीय कल्याणकारी योजनाएँ
विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी
  1. विज्ञान के सामान्य आधारभूत तत्व
  2. इलेक्ट्रॉनिक्स, कम्प्यूटर्स, सूचना एवं संचार प्रौद्योगिकी
  3. उपग्रह एवं अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी
  4. रक्षा प्रौद्योगिकी
  5. नैनो-प्रौद्योगिकी
  6. मानव शरीर, आहार एवं पोषण, स्वास्थ्य देखभाल
  7. पर्यावरणीय एवं पारिस्थिकीय परिवर्तन एवं इनके प्रभाव जैव-विविधता,
  8. जैव-प्रौद्योगिकी एवं अनुवांशिकीय-अभियांत्रिकी
  9. राजस्थान के विशेष संदर्भ में कृषि-विज्ञान, उद्यान-विज्ञान, वानिकी एवं पशुपालन
  10. राजस्थान में विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विकास
तार्किक विवेचन एवं मानसिक योग्यता
  1. तार्किक दक्षता (निगमनात्मक, आगमनात्मक, अपवर्तनात्मक)
  2. कथन एवं मान्यतायें, कथन एवं तर्क, कथन एवं निष्कर्ष, कथन-कार्यवाही
  3. विश्लेषणात्मक तर्कक्षमता
  4. मानसिक योग्यता
  5. संख्या श्रेणी, अक्षर श्रेणी, बेमेल छांटना, कूटवाचन (कोडिंग-डीकोडिंग), संबंधों, आकृतियों एवं उनके उपविभाजन से जुडी समस्याएँ
  6. आधारभूत संख्यात्मक दक्षता

RPSC RAS 2021 Mains Syllabus

RPSC RAS ​​2021 मुख्य पाठ्यक्रम व्यापक है और प्रशासन के ज्ञान के साथ-साथ सामाजिक विज्ञान और सामान्य अध्ययन के विषयों को गहराई से शामिल करता है।

RPSC RAS Paper 1 Syllabus
इतिहास
कला
संस्कृति
साहित्य
राजस्थान की परंपरा और विरासत
भारतीय इतिहास
आधुनिक विश्व का इतिहास (1950 ई। तक)
अर्थशास्त्र,
भारतीय अर्थव्यवस्था वैश्विक अर्थव्यवस्था
राजस्थान की अर्थव्यवस्था
समाजशास्त्र,
प्रबंधन लेखांकन ऑडिटिंग

RPSC RAS Paper 2 Syllabus
भारतीय राजनीतिक प्रणाली
विश्व राजनीति और करंट अफेयर्स
लोक प्रशासन और प्रबंधन: अवधारणाएं, मुद्दे और गतिशीलता
खेल और योग
व्यवहार और कानून

RPSC RAS Paper 4 Syllabus
(अंग्रेजी – 80 मार्क्स और हिंदी – 120 मार्क्स)
रचना
व्याकरण
समझना
अनुवाद
सटीक और पत्र लेखन

Important Links


RPSC RAS Pre Exam Syllabus & Exam Pattern (Hindi)-- Click Here

RPSC RAS Pre Exam Syllabus & Exam Pattern (English)-Click Here

RPSC RAS Mains Exam Syllabus & Exam Pattern (Hindi)-Click Here
RPSC RAS Mains Exam Syllabus & Exam Pattern (English)-Click Here

Scheme RPSC RAS Mains Exam-Click Here
RPSC RAS Bharti Notification- Click Here

Official Website - Click Here


Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

Join Whatsaap Group